घर के अंदर जी भर के रो लो* *पर दरवाज़ा हँस कर ही खोलो...!!*
*क्योंकि लोगों को यदि पता लग गया कि तुम अंदर से टूट चुके हो तो वो तुम्हें लूट लेंगेघर के अंदर जी भर के रो लो* *पर दरवाज़ा हँस कर ही खोलो...!!*
*क्योंकि लोगों को यदि पता लग गया कि तुम अंदर से टूट चुके हो तो वो तुम्हें लूट लेंगे
Share On Whatsapp




लोग बदलते नहीं है बस उनकी ज़िन्दगी में आपसे कोई बेहतर आ जाता है ..
Share On Whatsapp




कुछ रिश्ते बनते ही टूटने के लिये है प्यार के रिश्ते का नाम इन सबसे ऊपर है
Share On Whatsapp




बहुत गौर से देखने पर जाना मैंने..
दिल से बड़ा दुश्मन जमाने में नहीं..
Share On Whatsapp




अभी तक याद कर रहा है ए पागल दिल,
.
.
उसने तो तेरे बाद भी हजारो भुला दिए..
Share On Whatsapp




कौन चाहता है खुद को बदलना..
किसी को प्यार तोह किसी को नफरत बदल देती है।.
Share On Whatsapp




काश तेरी याद़ों का खज़ाना बेच पाते हम.. !!
हमारी भी गिनती आज अमीरों में होती..!!
Share On Whatsapp




जब भी वो उदास हो उसे मेरी कहानी सुना देना,
मेरे हालात पर हंसना उसकी पुरानी आदत है..
Share On Whatsapp