उसे बारिश‬ ☂ मे भीगना अच्छा लगता है ओर ‪‎मुझे‬ सिर्फ़ बारिश मे भीगती हुयी ‪‎वो‬
Share On Whatsapp




मेरे इस दिल को तुम ही रख लो,बड़ी फ़िक्र रहती है इसे तुम्हारी..!
Share On Whatsapp




आप से मिलकर हम कुछ बदल से गये शेर पडने लगे गुनगुनाने लगे पहले मशूहर थी अपनी संजिदगी अब तो लोगो से मिलने मिलाने लगे
Share On Whatsapp




इतना किसी को सताया नहीं करते..हद से ज़्यादा किसी को तड़पाया नहीं करते..जिनकी साँसें चल्ती हों आपके लफ़्हज़ों से..उन्हे अपनी आवाज़ के लिये तरसाया नहीं करते..
Share On Whatsapp




यूँ तो आदत नहीं मुझे मुड़ के देखने की..तुम्हें देखा तो लगा..एक बार और देख लूँ
Share On Whatsapp




कहतें हैं कि मोहबत एक बार होती है..पर मैं जब जब उसे देखता हूँ..मुझे हर बार होती है॥
Share On Whatsapp




प्यार अगर सच्चा हो तो कभी नहीं बदलता न वक़्त के साथ न हलात के साथ
Share On Whatsapp




तुम मुझे अच्छे या बुरे नहीं लगते बस अपने लगते हो।
Share On Whatsapp