काश..!! एक खवाहिश पूरी हो इबादत के बगैर..!!! वो आ कर गले लगा ले....मेरी इजाजत के बगैर!!!!!
Share On Whatsapp




क्या ऐसा नहीं हो सकता हम प्यार मांगे.. और तुम गले लगा के कहो, और कुछ?
Share On Whatsapp




तुम्हारे हँसने की वजह बनना चाहता हूँ , बस इतना हैं तुमसे कहना......।
Share On Whatsapp





अगर हम सुधर गए तो उनका क्या होगा जिनको हमारे पागलपन से प्यार है
Share On Whatsapp





दोस्ती इन्सान की ज़रुरत है! दिलों पर दोस्ती की हुकुमत है! आपके प्यार की वजह से जिंदा हूँ! वरना खुदा को भी हमारी ज़रुरत है!
Share On Whatsapp





जरा देखो तो ये दरवाजे पर दस्तक किसने दी है, अगर इश्क हो तो कहना, अब दिल यहाँ नही रहता..
Share On Whatsapp





तड़प के देखो किसी की चाहत में, तो पता चलेगा, कि इंतजार क्या होता है, यूं ही मिल जाए, कोई बिना चाहे, तो कैसे पता चलेगा कि प्यार क्या होता है.
Share On Whatsapp





जब तू दाँतो मे क्लिप दबा कर, खुले बाल बांधती है..!!! कसम से एक बार तो जिंदगी, वही रुक जाती हैं..
Share On Whatsapp